Sunday , May 19 2024
Breaking News

Notice: Trying to get property 'post_excerpt' of non-object in /home/punjabnewslive/domains/punjabnewslive.co.in/public_html/wp-content/themes/sahifa/framework/parts/post-head.php on line 73

केजरीवाल और भगवंत मान ने किया 400 मोहल्ला क्लीनिकों का उद्धाटन, पंजाब में अब तक कुल 500 क्लीनिक हुए जनता के, पढ़ें

अमृतसर, (PNL) : पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज कहा कि राज्य सरकार हरेक क्षेत्र का व्यापक विकास करके ‘सेहतमंद और रंगला पंजाब’ बनाने के लिए निरंतर प्रयास कर रही है। आज यहाँ प्रभावशाली समागम के दौरान 500 वां आम आदमी क्लीनिक लोगों को समर्पित करने के मौके पर अपने संबोधन में मुख्यमंत्री जिनके साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल भी उपस्थित थे, ने कहा कि राज्य सरकार ने इस नेक कार्य के लिए पुख़्ता व्यवस्था करनी शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षा और रोजग़ार के क्षेत्र में बड़े स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं, जिनके जल्द ही सकारात्मक नतीजे सामने आएंगे। भगवंत मान ने कहा कि लोगों को मानक स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करवाने के लिए 100 आम आदमी क्लीनिक 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लोगों को समर्पित किए गए थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह क्लीनिक लोगों को लगभग 100 क्लिनीकल टैस्टों के साथ 41 हल्थ पैकेज दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगस्त महीने से राज्य में चल रहे 100 आम आदमी क्लीनिकों से अब तक 10.26 लाख लोगों ने मुफ़्त इलाज करवाया। इसी तरह भगवंत मान ने बताया कि इन क्लीनिकों में 1.24 लाख मरीज़ों के मुफ़्त टैस्ट किए गए। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि यह क्लीनिक पंजाब में स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली की कायाकल्प की बुनियाद के तौर पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह बड़े गर्व और स्ंतुष्टी वाली बात है कि भारत सरकार ने भी लोगों तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुँचाने के लिए राज्य सरकार के इस प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा कि अब 400 से अधिक आम आदमी क्लीनिक खोलने से पंजाब इन 500 क्लीनिक के द्वारा स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में सफलता की नई कहानी लिखेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह क्रांतिकारी पहल राज्य में स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली को फिर से पैरों पर खड़ा करेगी। उन्होंने कहा कि इन क्लीनिकों की स्थापना करके राज्य सरकार ने मानक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करके पंजाब को सेहतमंद और रोग-मुक्त बनाने के लिए विनम्र सा प्रयास किया है। भगवंत मान ने उम्मीद ज़ाहिर की कि पंजाब निवासियों को अब इलाज और जांच के लिए अस्पतालों में पैसा नहीं ख़र्च करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि मरीज़ क्लीनिकों में जाकर डॉक्टरी सेवाओं का लाभ ले सकते हैं या ऑनलाइन समय लेने की सुविधा भी प्राप्त कर सकते हैं।

अरविन्द केजरीवाल का पवित्र धरती पर स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके दूरदर्शी नेतृत्व अधीन पंजाब ने यह लोक हितैषी प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने इस लोक-हितैषी पहल के लिए दिशा प्रदान की थी, जिससे राष्ट्रीय राजधानी के लोगों को बहुत लाभ हुआ था। भगवंत मान ने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्रों में सुधार के लिए अब अन्य राज्य भी इस मॉडल को अपना रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के सभी क्लीनिक स्वास्थ्य सेवाएं देने के साथ-साथ इन क्लीनिकों में आने वाले हरेक मरीज़ का ऑनलाइन डेटा भी रखेंगे। उन्होंने कहा कि इससे राज्य में गंभीर बीमारियों से निपटने के लिए रणनीति तैयार करने के लिए आंकड़े एकत्र करने में मदद मिलेगी। भगवंत मान ने कहा कि यह कदम राज्य के निवासियों के अनुसंधान आधारित इलाज को निर्विघ्न तरीके से सुनिश्चित बनाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार टैक्स भरने वाले लोगों के पैसों का एक-एक पैसा उनके कल्याण के लिए ख़र्च कर रही है। उन्होंने कहा कि इन लोक हितैषी प्रयासों को मुफ़्तख़ोरी नहीं कहा जा सकता, बल्कि यह विकास कार्यों पर किया गया खर्चा है, जिसका उद्देश्य लोगों के कल्याण और राज्य की तरक्की को सुनिश्चित बनाना है। भगवंत मान ने कहा कि यह विरोधाभास वाली स्थिति है कि आम आदमी पार्टी विकास की बात कर रही है, जबकि बाकी पार्टियाँ फूट-डालने के एजंडे पर चल रही हैं।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि पंजाब सरकार ने राज्य में आला दर्जे की सुविधाओं वाले ‘स्कूल ऑफ ऐमिनेंस’ की शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि ‘स्कूल ऑफ ऐमिनेंस’ इन स्कूलों में पढऩे वाले विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास को सुनिश्चित बनाएंगे। भगवंत मान ने कहा कि विद्यार्थी की रुचि के अनुसार उसे अपना पेशा चुनने की छूट होगी और यह स्कूल भविष्य के लिए पेशेवर पहुँच वाले विशेषज्ञ तैयार करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने इस महत्वपूर्ण प्रोजैक्ट को शुरू करने के लिए जानबूझ कर इस पवित्र धरती को चुना है। उन्होंने कहा कि हर रोज़ लाखों श्रद्धालु श्री हरमन्दिर साद्घहब, दुरग्याना मंदिर, श्री वाल्मीकि तीर्थ और अन्य स्थानों के दर्शनों के लिए आते हैं। भगवंत मान ने कहा कि यह शहीदों की धरती है और राज्य सरकार उनके सपनों को पूरा करने के लिए वचनबद्ध है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की पिछली सरकारों ने पंजाब का विकास करने की बजाय खजाने को लूटा। उन्होंने कहा कि यह सरकार का कर्तव्य बनता है कि खजाने को लूटने जैसा गुनाह करने वालों को सलाखों के पीछे डाला जाए। भगवंत मान ने कहा कि इन दोषियों को सज़ा दिलाने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी।
नौजवानों के लिए रोजग़ार के नए रास्ते खोलने के लिए राज्य सरकार की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने अपने कार्यकाल के केवल 10 महीनों के दौरान राज्य के नौजवानों को 25886 सरकारी नौकरियाँ दी हैं। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के बाद उनकी सरकार ने अलग-अलग विभागों में नौजवानों को यह नियुक्ति पत्र सौंपे। भगवंत मान ने कहा कि केवल 10 महीनों में इतनी बड़ी संख्या में नौकरियाँ नौजवानों के कल्याण और रोजग़ार के नए रास्ते खोलने के लिए राज्य सरकार की संजीदगी को दिखाता है।

इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने राज्य की तरक्की और ख़ुशहाली के लिए ऐतिहासिक लोक हितैषी फ़ैसले लेने के लिए मुख्यमंत्री भगवंत मान की सराहना की। उन्होंने कहा कि विधान सभा मतदान में आम आदमी पार्टी के हक में बड़ा फ़तवा देकर पंजाब के लोगों ने इतिहास सृजन किया। केजरीवाल ने कहा कि पंजाब ने इन मतदान में रिवायती पार्टियों के बड़े राजनीतिज्ञों का सफाया करके नए चेहरों को लोगों की सेवा करने का अवसर दिया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि सत्ता संभालने के केवल 10 महीनों के समय में भगवंत मान सरकार ने लोगों के कल्याण और राज्य की तकदीर बदलने के लिए क्रांतिकारी कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब में 500 आम आदमी क्लीनिक शुरू भी हो गए हैं, जबकि दिल्ली जिसने मुल्क को यह मॉडल दिया, को यह लक्ष्य पूरा करने के लिए लम्बा समय लगा था। केजरीवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री के प्रयासों के स्वरूप पंजाब आज मुल्क में दूसरा सबसे शांतमयी राज्य है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवंत मान साधारण परिवार से सम्बन्ध रखते हैं जिस कारण वह राज्य के लोगों की दुख-तकलीफ़ों को भली-भाँति समझते हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री ने यह साबित कर दिया है कि वह ज़मीन से जुड़े हुए नेता हैं, जिनको पंजाब और यहाँ के लोगों के साथ सरोकार है। केजरीवाल ने कहा कि इससे पहले राज्य के मुख्यमंत्री रसूखवान परिवारों से बनते थे, परन्तु इतिहास में पहली बार हुआ है कि इस पद के लिए आम व्यक्ति चुना गया है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने अरविन्द केजरीवाल को सम्मानित किया।
इस दौरान मुख्य सचिव पंजाब विजय कुमार जंजूआ ने धन्यवाद किया। समागम में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. बलबीर सिंह, राज्य सभा मैंबर राघव चड्ढा, मुख्य सचिव विजय कुमार जंजूआ, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव ए. वेणु प्रसाद, डी.जी.पी. गौरव यादव और अन्य उपस्थित थे।

About Punjab News Live -PNL

Check Also

पंजाब में बड़ा हादसा, बीजेपी नेता अरुण सूद के भांजे समेत लॉ यूनिवर्सिटी के चार छात्रों की मौत, पढ़ें

न्यूज डेस्क, (PNL) : इस समय की बड़ी खबर पंजाब के पटियाला से आ रही …

error: Content is protected !!