Wednesday , December 2 2020
Breaking News






बोल्ड सीन्स से लेकर खून खराबे तक, सब मामलों में पिछले सीजन से भी जबरदस्त है मिर्जापुर-2, पढ़ें रिव्यू

नई दिल्ली, (PNL) : अमेजन प्राइम की ब्लॉकबस्टर वेब सीरीज मिर्जापुर का दूसरा सीजन रिलीज कर दिया गया है. पिछले सीजन के मुकाबले मिर्जापुर-2 कई मायनों में डबल डोज देता है. वॉयलेंस हो या गाली गलौज, न्यूड सीन्स हों या डबल मीनिंग जोक्स इस बार मेकर्स ने हर मामले में एक कदम आगे जाने की पूरी कोशिश की है. तो चलिए जानते हैं कि इस सीजन में दर्शकों को क्या चीजें पहले से ज्यादा एंटरटेन करने वाली हैं.

गाली गलौज और डबल मीनिंग जोक्स

मिर्जापुर के कथानक में इस्तेमाल की गई भाषा कहीं न कहीं इसकी जान है. पहले सीजन में एडल्ट जोक्स से लेकर गाली गलौज तक को दर्शकों ने काफी एन्जॉय किया था इसलिए इस बार इसकी मात्रा पहले से बढ़ाई गई है. इस सीजन में कई बार इंटेंस सीन्स के बीच भी आपको डबल मीनिंग जोक्स सुनाई पड़ते हैं. जो सीन की गंभीरता को तो बनाए रखते हैं लेकिन कहीं न कहीं हंसाते भी हैं. साथ ही सभी किरदार बात-बात पर गालियों का इस्तेमाल भी पहले से ज्यादा करते नजर आ रहे हैं.

खून-खराबा और वॉयलंस

पिछले सीजन में जाहिर तौर पर खून खराबा काफी दिखाया गया था लेकिन इस बार इसका लेवल भी एक नंबर ज्यादा ही रखा गया है. कई दृश्य ऐसे हैं जो लोगों को विचलित कर सकते हैं. गंडासे से किसी का कत्ल करना हो या वीभत्स तरीके से किसी की जान लेना. मेकर्स हर सीन को ज्यादा से ज्यादा रियलस्टिक रखने की कोशिश की है.

न्यूड सीन्स में भी एक कदम आगे

मिर्जापुर के पिछले सीजन में भी सेक्स सीन्स को काफी स्पेस दिया गया था लेकिन कहा जा सकता है कि इस बार इस मामले में भी सीजन 2 आगे रहा है. दिव्येंदु शर्मा (मुन्ना भईया) को न्यूड दिखाने से लेकर अन्य तमाम अंतरंग दृश्यों तक मेकर्स ने बोल्ड सीन्स को सुपरबोल्ड बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है.

सस्पेंस थ्रिलर और कहानी में मोड़

सीजन 1 के बाद दर्शक एक बात के बारे में आश्वस्त थे कि दूसरा सीजन गुड्डू पंडित और गोलू के बदले की कहानी होगा. लेकिन मेकर्स ने कहानी को सिर्फ एक ट्रैक पर नहीं रखा है. किसी डीजल लोकोमोटिव की तरह कहानी लगातार पटरी बदलती रहती है जिससे आप पूरे वक्त ये कयास लगाते रहते हैं कि आगे क्या होने वाला है. ये कहानी में आपका इंट्रेस्ट लगातार बनाए रखता है.

‘मिर्जापुर 2’ के 10 बेस्ट डायलॉग्स 

-बातें ज्यादा हुई नहीं, बस आहट लेकर आ गए.
-शादीशुदा मर्द को अपनी स्त्री से भय न हो तो इसका मतलब है कि शादी में कुछ गड़बड़ है.
-औरत चाहे चंबल की हो या पूर्वांचल की, जब गन उठाई है तो इसका मतलब है कि दिक्कत में है.
-शर्म से क्या शर्माना, दिस इज ए कॉमन डिजीज.
-कुछ लोग बाहुबली पैदा होते हैं और कुछ को बनाना पड़ता है, इनको बाहुबली बनाएंगे.
-दिखाते समय कॉन्फिडेंस हो तो पब्लिक पूछती नहीं कि फाइल में क्या है.
-जब कुर्बानी देने का टाइम आए तो सिपाही की दी जाती है. -राजा और राजकुमार जिंदा रहते हैं, गद्दी पर बैठने के लिए.
-नेता जी बनना है तो गुंडे पालों, गुंडे मत बनो.
-गद्दी पर चाहे हम बैठें या मुन्ना नियम सेम होगा.
-हमारा उद्देश्य एक है… जान से मारेंगे… क्योंकि मारेंगे तभी जी पाएंगे.

About punjab news live (PNL)

Check Also

किसानों ने दिल्ली-नोएडा बॉर्डर को किया सील, माहौल तनावपूर्ण, जानिए कौन से रास्ते खुले और बंद है

नई दिल्‍ली, (PNL) : राष्ट्रीय राजधानी के बॉर्डर पर पुलिस की बैरिकेड्स के साथ भारी …

error: Content is protected !!