Friday , December 4 2020
Breaking News






जालंधर : माडल टाउन मार्किट की सत्ता हाथ से जाती देख पुराने दिग्गजों को याद आए चुनाव करवाने, मची खलबली

संदीप साही

जालंधर, (PNL) : शहर की सबसे पाश मार्किट माडल टाउन की प्रधानगी को लेकर सियासत गर्मा गई है। कांग्रेसी नेता अरविंद शर्मा ने अपनी एक नई एसोसिएशन बना दी है, जिसके वह खुद प्रधान बन गए हैं। उस एसोसिएशन का नाम-‘माडल टाउन मार्किट वेलफेयर एसोसिएशन’ रखा गया है। अरविंद के इस ऐलान के बाद माडल टाउन की पुरानी एसोसिएशन ‘माडल टाउन शापकीपर्स वेलफेयर’ के बीच खलबली सी मच गई है।

अरविंद ने रविवार को नई एसोसिएशन की घोषणा करते हुए माडल टाउन में डोर-टू-डोर प्रचार किया, जिसके अगले ही दिन माडल टाउन शापकीपर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने अपने चुनावों की घोषणा कर दी। हालांकि इससे पहले उक्त एसोसिएशन ने चुनाव को लेकर सरगर्मी नहीं दिखाई।

आपको बता दें कि माडल टाउन शापकीपर्स वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान अनिल अरोड़ा और चेयरमैन लाली घुम्मण है। मार्च, 2020 से माडल टाउन के चुनाव पैंडिंग चले आ रहे थे, लेकिन किसी ने कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। अब अरविंद के ऐलान के बाद अफरा-तफरी में चुनावों की तारीख का ऐलान कर दिया गया।

अरविंद शर्मा की मानें तो पुरानी एसोसिएशन सही ढंग से दुकानदारों के काम नहीं करवा पा रही थी, जिस कारण उन्हें नई एसोसिएशन का गठन करना पड़ा। उन्होंने कहा कि उनका माडल टाउन में दो जगह पार्टनरशिप पर काम चल रहा है और वह जल्द अपना नया शोरूम भी खोल रहे हैं। माडल टाउन के कई दुकानदार उनके साथ हैं और वह जल्द अपनी नई टीम का ऐलान करेंगे।

हालांकि अनिल अरोड़ा का कहना है कि उनकी एसोसिएशन के साथ 600 से ज्यादा सदस्य हैं और सात जनवरी को चुनाव करवाए जा रहे हैं। इसके लिए पांच सदस्यीय कमेटी का गठन कर दिया गया है। कोरोना के कारण चुनाव नहीं हो पा रहे थे। अब सही समय था, जिसका उन्होंने ऐलान कर दिया। वह नई एसोसिएशन के गठन के बारे में कुछ नहीं बोलना चाहते।

क्या अपना वर्चस्व बना पाएंगे अरविंद

कांग्रेसी नेता अरविंद शर्मा दावा करते हैं कि वह एक महीने के अंदर 60 से ज्यादा दुकानदारों को अपने साथ जोड़ लेंगे। इसके लिए उनकी सभी से बात भी हो गई है, लेकिन क्या अरविंद अपने इस दावे को पूरा कर पाएंगे या ये एसोसिएशन सिर्फ उन्होंने अपना कद बढ़ा करने के लिए बनाई है। इस पर अरविंद का कहना है कि माडल टाउन में पहले मनोज अरोड़ा, फिर रोहन सहगल और उसके बाद अनिल अरोड़ा ने अपनी नई एसोसिएशन बनाई। वह भी उनकी तरह ही अलग एसोसिएशन बनाकर काम कर रहे हैं।

About punjab news live (PNL)

Check Also

कृषि कानून पर तकरार जारी, पूर्व सीएम परकाश सिंह बादल ने उठाया बड़ा कदम, पढ़ें

नई दिल्ली, (PNL) : कृषि कानूनों के खिलाफ देश में किसानों का आंदोलन बढ़ता जा …

error: Content is protected !!